इंदौर की तर्ज पर अन्य शहरों को भी भिक्षावृति मुक्त शहर बनाया जाएगा – सामाजिक न्याय मंत्री श्री कुशवाह

    

इंदौर में भिक्षुक पुर्नवास केन्द्र का शुभारंभ किया

भोपाल : बुधवार, मार्च 6, 2024,

सामाजिक न्याय एवं दिव्यांगजन कल्याण मंत्री श्री नारायण सिंह कुशवाह ने कहा है कि इंदौर की तर्ज पर प्रदेश के अन्य शहरों को भिक्षावृत्ति मुक्त शहर बनाने का अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान में समाज की सहभागिता भी सुनिश्चित की जाएगी। मंत्री श्री कुशवाह ने स्माइल परियोजना के तहत इंदौर में भिक्षुक पुनर्वास केंद्र का शुभारंभ किया।

मंत्री  श्री कुशवाह ने कहा कि इंदौर शहर को भिक्षावृत्ति से मुक्त करने का कार्य चुनौतीपूर्ण है। इंदौर में चल रहा अभियान सराहनीय एवं अनुकरणीय है। इंदौर में इस अभियान को मिल रही सफलता को देखते हुए अब प्रदेश के अन्य शहरों में भी इस तरह का अभियान चलाया जाएगा। प्रदेश स्तरीय अभियान की शुरुआत सबसे पहले उज्जैन शहर से की जाएगी। उन्होंने  कहा कि स्वच्छता के साथ अब इंदौर भिक्षावृत्ति मुक्ति में भी देश का नंबर वन शहर बनेगा। उन्होंने कहा कि इंदौर को पूर्ण रूप से भिक्षावृत्ति से मुक्त शहर बनाने के लक्ष्य को सामाजिक सहभागिता से पूर्ण किया जा सकेगा।

विधायक श्री रमेश मेंदोला ने कहा कि समाज कल्याण परिसर को समाज की सहभागिता से पीड़ितों की सेवा के लिए सुविधाजनक बनाया गया है। स्मार्ट सिटी के सीईओ श्री दिव्यांक सिंह ने अभियान की विस्तृत जानकारी दी। इस अवसर पर विधायक श्री गोलू शुक्ला, सामाजिक न्याय विभाग के आयुक्त डॉ. रामाराव भोंसले सहित अन्य अधिकारी उपस्थिति थे।