जनपद शिक्षा केंद्र बड़वाह के संविदा उपयंत्री की सेवा समाप्ति का आदेश

मनरेगा के कार्यों का फर्जी मूल्यांकन करने और शासकीय राशि के गबन करने का मामला

   खरगोन कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा ने मनरेगा के कार्यों का फर्जी मूल्यांकन करने और शासकीय राशि का गबन करने के कारण जनपद शिक्षा केंद्र बड़वाह के संविदा उपयंत्री सुनील लुटारे की संविदा सेवा समाप्त करने का आदेश दिया है।

     ग्राम पंचायत जूजाखेड़ी को मनरेगा योजना अंतर्गत कुल 52 कार्यों के लिए दिनांक 18 मई 2006 से 31 मार्च 2010 तक की अवधि में जनपद पंचायत बड़वाह से राशि 45 लाख 80 हजार रुपयें एवं जिला पंचायत खरगोन से 21 लाख 06 हजार 56 रुपयें इस प्रकार कुल राशि 66 लाख 86 हजार 053 रुपये ग्राम पंचायत जूजाखेड़ी के भारतीय स्टेट बैंक शाखा महेश्वर रोड़ बड़वाह में संचालित बैंक खाता में एवं जिला सहकारी बैंक मर्यादित शाखा बडवाह में संचालित बैंक खाता में जमा कराई गई थी। ग्राम पंचायत जूजाखेड़ी के तत्कालीन सरपंच शेरू मोत्या बिल्लोरे एवं सचिव द्वारा मनरेगा कार्यों के लिए दोनो बैंक खातों से 63 लाख 71 हजार 439 रूपये की राशि आहरित की गई। ग्राम पंचायत जूजाखेड़ी में मनरेगा योजना अंतर्गत कराये गये कार्यों का मूल्याकंन कराये जाने पर 50 लाख 89 हजार 559 रुपयें का कार्य कराया जाना पाया गया। शेष राशि 12 लाख 81 हजार 880 रुपये बिना किसी कार्य के आहरित कर गबन किया गया है।

       संविदा उपयंत्री सुनील लुटारे द्वारा वर्ष 2006-07 से वर्ष 2010 की अवधि में जनपद पंचायत बड़वाह की ग्राम पंचायत जूजाखेड़ी में मनरेगा के कार्यों का फर्जी मूल्यांकन किया गया और 12 लाख 81 हजार रुपए की शासकीय राशि का गबन किया गया है। जिसके कारण उसकी संविदा सेवा समाप्त कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.